Hariyali Teej क्या होती है | तीज का त्योहार कैसे मनाया जाता है

Hariyali Teej Kya Hoti Hai:- हरियाली तीज भी हिंदी धर्म के लिए एक पवित्र त्यौहार माना जाता हैं. जिसमे हिन्दू धर्म हरियाली तीज को बहुत ही मान्यता देते हैं. यह व्रत महिलाएं अपने पति के लम्बें उम्र की कामना के लिए रखती हैं. इस दिन महिलाएं भगवान शिव और माता पार्वती के पूजा करते हैं. यह पर्व सावन माह के शुक्ल पक्ष के तृतीय तिथि को मनाया जाता हैं. और हरियाली तीज के दिन लोग भगवान शिव और माता पार्वती के पुनर्मिलन के उपलक्ष्य में मनाया जाता हैं.

हरियाली तीज क्या होती है | Hariyali teej kya hoti hai

हरियाली तीज का उत्सव श्रावण मास में शुक्ल पक्ष तृतीया तिथि को मनाया जाता हैं. यह तीज का व्रत महिलाए अपने पति के लम्बे उम्र के लिए करती हैं. सावन महीने में सभी जगह हरियाली होने से महिलाये के मन में मयूर नृत्य करते करने लगते हैं. ऐसे में वृक्ष की शाखाओं में लम्बे लम्बे लतर वाले झूले पड़ जाते हैं. और पूर्वी उत्तर प्रदेश में इसे कजली तीज के रूप के नाम से जाना जाता हैं.

सुहागन स्त्रियों के लिए यह पर्व काफी मायने रखता है और आस्था, उमंग, सौंदर्य और प्रेम का उत्सव शिव-पार्वती के पुनर्मिलन के उपलक्ष्य में मनाया जाता हैं. सावन महीने में चारो तरफ हरियाली होने के कारण इसे हरियाली तीज कहते हैं. इस पर्व पर महिलाएं झूला झूलती हैं, लोकगीत गाती हैं और खुशियां मनाती हैं.

हरियाली तीज की परम्परा

  • हरियाली तीज के उपलक्ष में लड़कियों को ससुराल से पीहर बुलाया जाता हैं.
  • हरियाली तीज में शादीशुदा लड़कियों के ससुराल से कपड़े, श्रृंगार का सामान, मेहंदी, आभूषण और मिठाई उनके मायके मे आता है.
  • कन्याए मेहँदी लगाकर पैरों में आलता लगाती हैं. और अच्छे से श्रृंगार कर माता पार्वती की पूजा करती हैं.
  • अपने साँस या अपने जेठानी के पाँव छूकर स्त्रियां आशीर्वाद प्राप्त करती हैं.
  • इस दिन महिलाएं झूले भी झूलती हैं और नाचती है.

हरियाली तीज पूजा की विधि | तीज का त्योहार कैसे मनाया जाता है

  1. हरियाली तीज के दिन महिलाएं सुबह उठकर नाहा कर स्वच्छ वस्त्र धारण करना होगा.
  2. घर के साफ सफाई कर अपने मंडप को तोरण से सजाना होगा.
  3. मन्दिर या पूजा स्थल के सामने चौकी पर मिट्टी में गंगाजल मिलाकर शिवलिंग, माता पार्वती और गणेश जी की मूर्ति बनाए.
  4. उसके बाद सच्चे मन से पूजा करें.
  5. जो भी महिलाएं रात भर जागरण करती हैं. भगवान शिव और माता पार्वती गीते गाती हैं.
  6. और पंडित जी से हरियाली तीज की कथा सुनती है.

Read more:- Tech Nukti App Download Gold Lock Screen Latest Version – TechNukti

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*