हर्निया क्या होता है? (What is Hernia in Hindi) हर्निया के लक्षण क्या है

harnia in hindi

यदि आप भी हर्निया के बारे में जानना चाहे हैं तो इस पोस्ट में आपको सब कुछ मिलेगा. हर्निया क्या होता है हिंदी में, हर्निया कितने प्रकार का होता है, हर्निया के कारण क्या है, हर्निया के लक्षण क्या है?, हर्निया का इलाज क्या है ? हर्निया से बचाव कैसे करे. यदि आप भी जानना चाहते है तो इस पोस्ट को पूरा अंत पढ़े.

हर्निया क्या है? (What is Hernia in Hindi)

हर्निया पेट के आंत में होने वाली एक बीमारी है. जिसे पेट में छेद होने लगता है और सूजन होकर पेट बाहर की तरफ आ जाता हैं. हर्निया से कमर और अन्य मांसपेशिया भी कमजोर हो जाती हैं. और कमजोर जगह से आंते बहार निकल जाती हैं. ये बीमारी पुरुषो और महिलाओ दोनों लोगो में पाई जाती हैं लेकिन पुरुषो में ये हर्निया के लक्ष्ण ज्यादा देखने को मिलते हैं.

वैसे तो हर्निया का रोग कुछ लोगो के जन्मजात से ही होता हैं. इसके कारण से स्थित रक्त वाहिकाएं पर दबाव पड़ता है. जिसके कारण खून या रक्त प्रवाह रुक जाता हैं और इससे समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं.

हर्निया कितने प्रकार का होता है | Types of Herniya in Hindi

यहाँ हर्निया मुख्यत छ: प्रकार के होते हैं. 

  • वंक्षण हर्निया (Inguinal hernia)
  • फेमोरल हर्निया (Femoral hernia)
  • नाल हर्निया (Umbilical hernia)
  • इंसिज़नल हर्निया (Incisional hernia)
  • एपिगैस्ट्रिक हर्निया (Epigastric hernia)
  • हियातल हर्निया (Hiatal hernia)

हर्निया के लक्षण क्या है ? (What are The Symptoms of Hernia in Hindi)

harnia in hindi
harnia in hindi

हर्निया में खड़े होने, तनाव या खिचाव के कारण, या भारी वस्तुओं को उठाने के समय लक्षण के रूप में दर्द महसूस होता हैं. साथ ही साथ इसमें प्रभावित जगह पर कुछ उभार देखने को मिलता हैं. 

हर्निया में पेट की चर्बी में उभार आते है, मलमूत्र करने में भी परेशानी होती है, और पेट के निचले भाग भी सूज जाता है, और ऐसे में लंबे समय तक बैठने या खड़े रहने पर दर्द भी महसूस होता हैं. 

कुछ कुछ मामलो में हर्निया में तत्काल सर्जरी की आवश्यकता भी होती हैं. क्योकि जब आंत में दर्द, जी मिचलाना, उल्टी और अधिक उभार होती है तब ऐसा करना होता हैं. 

हर्निया के कारण क्या है | What are The Causes of Hernia in Hindi

हर्निया का मुख्य कारण मांसपेसियों के कमजोरी और तनाव के कारण होता हैं. और इसमें हर्निया तेजी से या लंबे समय के लिए भी विकसित हो सकती है.

भारी वजन उठाने से, गहरी चोट लगने से, पुराना ऑपरेशन के कारण, अधिक मोटापा के कारण, ये गर्भावस्था में भी होता है, बढ़ती उम्र होने के कारण और लंबे समय तक खासी आने के कारण हर्निया के कारण हो सकते हैं.

हर्निया का इलाज क्या है ? (What are The Treatments for Hernia in Hindi)

हर्निया का इलाज उसके लक्ष्ण और प्रभाव के अनुसार होता हैं. और डॉक्टर के द्वारा ही इसका इलाज करवाया जाता हैं. डॉक्टर आपके हर्निया के लक्षणों की जटिलता के आधार पर इलाज और जाँच करते हैं. 

  • जीवनशैली में बदलाव कर सकें.
  • दवाइयों की सहायता से इसका इलाज किया जा सकता है. 
  • सर्जरी के माध्यम से इसका इलाज किया जाता हैं. 

हर्निया से कैसे बचें. (How to Prevent Hernia in Hindi)

हर्निया से बचने के लिए वजन को नियंत्रित रखें, स्वस्थ आहार का सेवन करें, व्यायाम और योग जरुर करें, नशे वाली समग्री का सेवन ना करें, मलमूत्र में ज्यादा दबाव ना दे, और ऐसे कुछ लक्षण दिखने पर डॉक्टर का परामर्श जरुर लें.

Disclaimer – यह जानकारी इन्टरनेट स्रोतो से लिया गया हैं. जिसे पूरा सही होने का दावा नही किया जा सकता हैं. इस लेख में बताई गयी बाटे केवल एक शिक्षा और जानकारी के उद्देश्य से शझा किया गया हैं. अत: आपको को भी उपचार लेने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर से सम्पर्क करे उनसे उचित सलाह जरुर लेन. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *