Yeh Rishta Kya Kehlata Hai 15th October 2021 Written Update: Goenkas stand with Sirat

yeh rishta kya kehlata hai
yeh rishta kya kehlata hai

आज का एपिसोड गोयनका के साथ शुरू होता है कि मुकेश ने सीरत दवा बदल दी है। सुहासिनी खुद को दोषी मानती है और कहती है कि उसने बिना वजह सुरेखा पर आरोप लगाया। सुरेखा पर आरोप लगाने से स्वर्णा को भी बुरा लगता है।

Yeh Rishta Kya Kehlata Hai 15th October 2021 Written Update: Goenkas stand with Sirat

कार्तिक आते हैं और सीरत उससे पूछते हैं कि महासंघ ने क्या निर्णय लिया है। कार्तिक ने सीरत को सूचित किया कि मुकेश को जेल भेजा जा सकता है। उसने कहा कि वह अभी भी नहीं खेल सकती क्योंकि उसके खून के निशान में दवा है।

कार्तिक का कहना है कि उसका खून का नमूना फिर से लिया जाएगा। सीरत का कहना है कि पहले उन्हें सुरेखा से माफी मांगने की जरूरत है। गोयनका सुरेखा से माफी मांगने को तैयार हो जाते हैं।

आगे, सुहासिनी ने सीरत और स्वर्ण को आशीर्वाद दिया। सीरत और स्वर्ण करवाचौथ का व्रत रखते हैं। उन्हें सुरेखा की याद आती है। गायू का कहना है कि वे सुरेखा से माफी मांगने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वह अब और नहीं सुन रही है।

सीरत ने अखिलेश को करवाचौथ के अवसर पर सुरेखा से मिलने के लिए कहा। अखिलेश कहते हैं कि सुरेखा उनकी भी नहीं सुनेगी। सीरत स्वर्णा को सुरेखा के पास जाने का सुझाव देती है क्योंकि सुरेखा उसके करीब है। स्वर्णा कहती है कि जो कुछ हुआ उसके बाद वह सुरेखा का सामना नहीं कर सकती।

बाद में, कार्तिक ने सीरत को सूचित किया कि उसका मैच आज होने वाला है। सुहासिनी और स्वर्ण का कहना है कि सीरत उपवास कर रही है। कार्तिक सीरत को मैच को प्राथमिकता देने और पानी पीने के लिए कहता है। सीरत ने अनशन तोड़ने से मना कर दिया। कार्तिक का कहना है कि वह खाली पेट नहीं लड़ सकती। सीरत कहते हैं कि ताकत दृढ़ इच्छाशक्ति से आती है न कि खाने से। वह कार्तिक से मीठा खाने के लिए कहती है। स्वर्णा ने बताया कि कार्तिक भी उपवास कर रहा है। सीरत मारा जाता है।

सीरत मैच शुरू। कार्तिक सीरत से मैच जीतने के लिए कहता है। वह सीरत से मैच जीतने के लिए अपनी पूरी ताकत लगाने के लिए कहता है। सीरत सोचता है कि अच्छा होता अगर सुरेखा उसका समर्थन करने आती। कार्तिक सीरत को मैच पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहता है और सब कुछ जल्द या बाद में अपनी जगह पर आ जाएगा।

सीरत के मैच के बारे में एक घोषणा होती है। अरविंद ने सीरत से मैच पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा क्योंकि उन्हें जीतना है। सीरत रिंग में प्रवेश करती है और अच्छा खेलती है। स्वर्णा सुरेखा के प्रति अपने व्यवहार के बारे में सोचती है। वह सुरेखा से मिलती है और बाद में स्वर्ण से बात करने से इनकार कर देती है।

स्वर्णा सुरेखा से उसके प्रति अपने व्यवहार के लिए माफी मांगती है। सुरेखा कहती है कि वह सीरत की वजह से उसे भूल गई। स्वर्ण ने अपनी गलती स्वीकार कर ली। उसने जोड़ा सीरत की नजर उसे ढूंढ रही है। स्वर्णा सुरेखा से उसकी वजह से सीरत को दंडित न करने के लिए कहती है। सुरेखा मां खड़ी है।

दूसरी तरफ सीरत बेहोश हो गई। कार्तिक सीरत को वापस लड़ने के लिए प्रोत्साहित करने की कोशिश करता है। सुरेखा आकर सीरत की जय-जयकार करती है। वह सीरत से पूछती है कि क्या वह चाहती है कि वह वापस घर लौट आए, तो उसे वापस लड़ना चाहिए। सीरत वापस लड़ने के लिए उठ खड़ा हुआ। कार्तिक सीरत से पानी पीने के लिए कहता है। सीरत ने पानी पीने से इंकार कर दिया और बिना उपवास तोड़े लड़ने का साहस किया। [एपिसोड समाप्त]

प्रीकैप: कैरव और वंश गोयनकास को बताते हैं कि चाँद आ गया है। वे आरोही और अक्षु को अपने साथ ले जाते हैं। किसी ने आरोही को दूसरे शिशु से बदल दिया। कार्तिक और सीरत स्तब्ध रह गए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*